Tuesday, July 16, 2024

राजस्थान: सचिन पायलट ने दिखाए तेवर, कहा- जल्द फैसला ले आलाकमान

जयपुर। राजस्थान में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. ऐसे में यह सवाल उठ रहा है कि कांग्रेस वहां किसके चेहरे पर चुनाव लड़ेगी. चेहरा बदल दिया जायेगा या फिर पुराने चेहरे के दम पर ही कांग्रेस चुनावी मैदान फतह करने उतरेगी. लेकिन इन सबके बीच सचिन पायलट ने एक ऐसा बयान दिया है, जो कांग्रेस आलाकमान को सोचने पर मजबूर कर देगा. सचिन पायलट ने अपने बयान से एक बात तो जाहिर कर दी है कि बिना पायलट के प्लेन उड़ाना कांग्रेस के लिए आसान नहीं होगा, इसलिए चुनावी बिगुल बजने से पहले यह तय कर लिया जाए कि राजस्थान की चाबी इस बार किसके हाथों में रहेगी.

पार्टी निर्देश न मानने वाले नेताओं के खिलाफ कार्रवाई में हो रही देरी

बता दें कि सचिन पायलट ने एक न्यूज़ चैनल से बात करते हुए कहा है कि कांग्रेस और बीजेपी दोनों चुनाव की तैयारियों में जुट चुके हैं. पीएम मोदी राजस्थान में एग्रेसिव तरीके से प्रचार करने में लगे हुए हैं. ऐसे में कांग्रेस को अब अपने कार्यकर्ताओं को एक जुट करना होगा ताकि वो लड़ाई के लिए तैयार रहें.
सचिन पायलट ने आगे कहा कि पिछले साल विधायक दल की बैठक तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के निर्देश पर बुलाई गयी थी. ऐसे में बैठक नहीं होना सोनिया गांधी के निर्देश की अवहेलना थी. पार्टी निर्देश न मानने वाले नेताओं के खिलाफ कार्रवाई में देरी हो रही है. यदि हमें प्रदेश में हर साल सरकार बदलने वाली परंपरा को बदलना है तो कांग्रेस से जुड़े मामले पर जल्द फैसला करना होगा.

कांग्रेस की अनुशासनात्मक समिति और पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे दे सही जवाब

इस दौरान सचिन पायलट ने ये भी कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के करीबी माने जाने वाले तीन नेताओं को 4 महीने पहले कारण बताओं नोटिस दिया गया था, लेकिन इस मामले में कांग्रेस की अनुशासनात्मक समिति और पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे सही जवाब दे सकते हैं. आखिरकार इन मामले में फैसला लेने में देरी क्यों हो रही है.

जल्द फैसला ले पार्टी

सचिन पायलट ने कहा कि हम बहुत जल्द विधानसभा चुनाव की तरफ बढ़ रहे हैं. राज्य का बजट भी पेश हो चुका है. पार्टी नेतृत्व ने कई बार कहा है कि फैसला होगा कि कैसे आगे बढ़ना है. राज्य में कांग्रेस पार्टी के बारे में जो भी फैसला करना है, वो अब हो जाना चाहिए क्योंकि इस साल के अंत में चुनाव है.

सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बीच जारी है कोल्ड वॉर

राजस्थान में साल के अंत में चुनाव होने वाले है और वहां 25 सालों से ऐसी परंपरा चलती हुई आ रही है कि किसी पार्टी ने दोबारा सरकार रिपीट नहीं किया है. जिस तरह से सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बीच कोल्ड वॉर चल रहा है, अगर वो शांत नहीं हुआ तो चुनाव में इसका नुकसान भी उठाना पड़ सकता है.

Latest news
Related news