Saturday, July 13, 2024

राजस्थान: पिछड़े वर्ग के इन समुदायों ने अपने लिए अलग से 12% आरक्षण मांगा, नेशनल हाईवे को किया जाम

जयपुर। माली, कुशवाह, काची, मोरया और सैनी समुदाय के सदस्यों ने ओबीसी आरक्षण की मांग करते हुए भरतपुर को जयपुर से जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग 21 को जाम कर दिया है.

12 प्रतिशत आरक्षण की मांग

आपको बता दें कि ओबीसी के अंतर्गत माली, कुशवाह, काची, मोरया और सैनी समुदाय के सदस्यों ने सरकार से 12 प्रतिशत आरक्षण की मांग की हैं. जानकारी के मुताबिक शुक्रवार शाम को पांचो समुदाय द्वारा लव कुश कल्याण बोर्ड का अलग से गठन करने की मांग समेत अपने समुदाय के सदस्यों के लिए छात्रावासों का गठन करने की मांग की गई. लोगों ने नाराजगी दिखाते हुए भरतपुर टू जयपुर नेशनल हाईवे 21 को जाम कर दिया। इस विरोध प्रदर्शन में 1000 लोगों से ज्यादा लोगों ने भाग लिया था. भरतपुर के हलेना के समीप अरोडा व बैरी गांव में इस विरोध प्रदर्शन को आयोजित किया गया था. लोगों ने बैनर के साथ विरोध के नारे लगाए जिसके बाद पुलिस ने दूरी बनाकर बात में उलझाने का प्रयास भी किया था.

21 प्रतिशत पहले से ही है आरक्षण

बता दें कि माली, कुशवाह, काची, मोरया और सैनी समुदाय ओबीसी समुदाय के हिस्सा है जिसमें जाट, यादव, चरण समेत अन्य जातियां भी शामिल है. इन सभी को सरकार ने पहले से ही सरकारी नौकरी अथवा शिक्षण संस्थानों में 21 प्रतिशत का आरक्षण प्रदान किया है. लेकिन विरोध करने वाले लोग ओबीसी के लिए अलग से 12 प्रतिशत की मांग कर रहे हैं.

दूसरी ओबीसी समुदाय कर रहे है विरोध

लेकिन अन्य ओबीसी समुदाय इस मांग का विरोध कर रहे हैं। हजारों लोग विरोध में सड़क पर बैठे हैं वहीं आज विरोध प्रदर्शन में और लोगों के जुड़ने की आशंका जताई जा रही है. विरोध प्रदर्शनकरियों ने कहा कि हम एम्बुलेंस को नहीं रोक रहे हैं. पुलिस शुक्रवार शाम से प्रदर्शनकारियों की भीड़ को हटाने का प्रयास कर रही हैं लेकिन लोग बढ़ते ही जा रहे हैं.

पुलिस पर किया पथराव

पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि विरोध कर रहे प्रदर्शनकारी पुलिस पर पथराव भी कर रहे हैं. वहीं भरतपुर के एसपी शयाम सिंह ने बताया कि हम प्रद्रशनकारियों को हटाने का प्रयास कर नेशनल हाईवे को क्लियर करने की कोशिश कर रहे हैं.

Latest news
Related news