Saturday, July 13, 2024

Rajasthan Election 2023: CM फेस को लेकर गहलोत का बड़ा बयान, जानें आगे क्या कहा?

जयपुर। राजस्थान में विधानसभा चुनाव की तारीख की घोषणा के बाद से ही सभी राजनीतिक पार्टियों ने अपनी कमर कस ली है. इस चुनावी मैदान में सभी पार्टियां अपने स्टार प्रचारकों को भी उतारने की तैयारी में हैं. चुनावी माहौल के दौरान CM अशोक गहलोत ने सीएम पद को लेकर एक बड़ा बयान दिया है. बता दें कि विधानसभा चुनावों को लेकर राजस्थान के टिकटों की सूची फाइनल करने के लिए तत्काल CM गहलोत दिल्ली में उपस्थित हैं। CM अशोक गहलोत ने आज (गुरुवार) को प्रेस कांफ्रेंस के जरिए विपक्ष के तमाम सवालों के जवाब दिए है।

सीएम पद छोड़ना चाहता हूं

प्रदेश में चौथी बार CM बनने के सवाल पर गहलोत ने कहा कि मैं इस पद को छोड़ना चाहता हूं लेकिन यह पद मुझे छोड़ने नहीं दे रहा है। उन्होंने कहा कि यह पद शायद छोड़ेगा भी नहीं। साथ ही उन्होंने कहा कि कुछ तो कारण होंगे कि सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी हमे बार-बार CM बनाने में लगे हुए है।

टिकट काटे जाने के सवाल पर

राजस्थान में कांग्रेस सरकार से बगावत करने वाले सचिन पायलट और उनके कुछ विधायकों को टिकट दिए जाने के सवाल पर भी गहलोत ने कहा कि अभी सिर्फ जीत क्राइटेरिया है बाकी सब हम भूल चुके हैं। प्रदेश में एंटीइनमबेंसी के कारण टिकट काटे जाने के सवाल पर गहलोत ने कहा सीएम के खिलाफ कोई आरोप नहीं है। हालांकि इस दौरान उन्होंने कहा कि विधायकों के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप और एंटीइनकमबेंसी भी है, लेकिन टिकट तब कटते हैं, जब वहां विकल्प हों। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने सरकारें बदलने का नया मॉडल अपनाया है। जो बहुत ही खतरनाक है। वहीं इस कड़ी में गहलोत ने कहा अरुणाचल प्रदेश के CM को तो इस कारण आत्महत्या तक करनी पड़ी।

गहलोत ने अपनी नाराजगी जाहिर की

आपको बता दें कि CM गहलोत ने अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि प्रदेश में आचार संहिता लागू होने के बाद ED की कार्रवाई की गई। उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत संजीवनी घोटाले के आरोपी उनकी जांच क्यों नहीं की जा रही। यहां के सांसद ED के ऑफिस में जाकर झूंठी शिकायत करते हैं और उनके कहने पर ED कार्रवाई के लिए आ जाती है। उन्होंने कहा कि सांसद किरोड़ी ने तूफान मचा दिया कि लॉकर में 500 करोड़ रुपये पड़े हैं, तो ED ने रेड डाली।

पीएम मोदी पर भी निशाना

CM गहलोत PM मोदी का ज़िक्र करते हुए कहा कि मोदी कहते हैं कि मैं गहलोत से बड़ा ईमानदार हूं तो मैं उनको कहना चाहता हूं कि मैं मोदी से बड़ा फकीर हूं। उन्होंने कहा कि मैं अपने जीवन काल में एक ईंच जमीन नहीं खरीदी, सोना नहीं खरीदा, इसलिए मोदी को यह सब बड़ा दावा नहीं करना चाहिए।

विपक्ष को तकलीफ हो रही

इस दौरान उन्होंने कहा कि विपक्ष को तकलीफ हो रही है कि पायलट और बाकी कांग्रेस के मंत्रियों के बीच झगड़े क्यों नहीं हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि अभी सिर्फ चुनाव में जीत पर फोकस है बाकी हमारी पार्टी पिछले गीले शिकवे को भूल चुकी है।

Latest news
Related news