Tuesday, July 16, 2024

Rajasthan Election 2023: 199 सीटों जारी है वोटिंग, चुनावी मैदान उतरे हैं ये नेता

जयपुर। राजस्थान में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान चल रहा है। आज यानी शनिवार (25 नवंबर) को प्रदेश में 200 में से 199 सीटों पर मतदान हो रहा है, जिसमें 5.25 करोड़ से ज्यादा मतदाता अपने वोट का इस्तेमाल करेंगे। बता दें कि मतदाताओं से वोटिंग करवाने के लिए पौने तीन लाख से ज्यादा कर्मचारी कार्य में लगे हुए हैं। मतदान सुबह 7 बजे से शुरू हो चुका है। यह शाम 6 बजे तक चलेगा। वहीं श्रीगंगानगर की करणपुर सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी और मौजूदा विधायक गुरमीत सिंह कूनर के निधन के कारण इस क्षेत्र में चुनाव रद्द किया गया।

199 सीटों पर हो रहा मतदान

विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राजस्थान में मुख्य मुकाबला सत्तारूढ़ कांग्रेस व मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी बीच बताया जा रहा है। इन दोनों पार्टियों के नेताओं का जबरदस्त आक्रामक चुनावी प्रचार गुरुवार शाम को ही थम को गया था। जिसके बाद प्रत्याशियों ने घर-घर जाकर मतदाताओं को लुभाने की कोशिश की। अधिकारियों का कहना है कि इन 199 सीटों पर 1862 उम्मीदवार मैदान में उतरे हैं, जहां मतदाताओं की संख्या 5,25,38,105 है। इनमें 18-30 आयु वर्ग के 1,70,99,334 युवा मतदाता शामिल हैं, जिनमें 18-19 आयु वर्ग के 22,61,008 नए मतदाता शामिल हैं। मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता के अुनसार राज्य में कुल 36,101 स्थानों पर कुल 51,507 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। जिनमें कुल 10,501 मतदान केन्द्र शहरी क्षेत्र में और 41,006 ग्रामीण क्षेत्र में बनाए गए हैं।

कांग्रेस के ये दिग्गज नेता चुनावी मैदान में

आज राजस्थान में विधानसभा का चुनाव हो रहा है जिसमे सत्तारूढ़ कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी,भंवर सिंह भाटी, सालेह मोहम्मद, ममता भूपेश, प्रताप सिंह खाचरियावास, राजेंद्र यादव, मंत्री शांति धारीवाल, बीडी कल्ला, महेंद्रजीत सिंह मालवीय और अशोक चांदना, शकुंतला रावत, उदय लाल आंजना, व पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट शामिल हैं। इसके अलावा कांग्रेस ने सात निर्दलीय विधायकों और एक बीजेपी विधायक-शोभारानी कुशवाहा, जिन्हें पिछले साल बीजेपी से निष्कासित कर दिया गया था, सहित 97 विधायकों को मैदान में उतारा। बता दें कि कांग्रेस से बीजेपी में शामिल होने वाले प्रमुख चेहरों में से एक पूर्व सांसद ज्योति मिर्धा हैं, जो नागौर से विधानसभा चुनाव लड़ रही हैं। नागौर से सांसद और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक हनुमान बेनीवाल भी विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं। इस पार्टी ने चन्द्रशेखर आजाद के नेतृत्व वाली आजाद समाज पार्टी (कांशीराम) के साथ चुनावी गठबंधन किया गया है।

ये हैं बीजेपी के प्रमुख उम्मीदवार

वहीं बीजेपी की तरफ से प्रमुख उम्मीदवारों में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़, उपनेता प्रतिपक्ष सतीश पूनिया और सांसद दीया कुमारी, राज्यवर्धन राठौड़, बाबा बालकनाथ व किरोड़ी लाल मीणा मैदान में उतारे गए हैं। इसके अलावा बीजेपी ने कांग्रेस विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा सहित छह सांसदों और एक राज्यसभा सदस्य के अलावा 59 मौजूदा विधायकों को टिकट दिया गया है। बता दें कि बीजेपी सभी सीटों पर चुनाव लड़ रही है, जबकि सत्तारूढ़ कांग्रेस ने 2018 चुनाव की तरह अपने सहयोगी राष्ट्रीय लोक दल (आरएलडी) के लिए एक सीट -भरतपुर- छोड़ी है। भरतपुर सीट से आरएलडी के मौजूदा विधायक सुभाष गर्ग चुनाव लड़ रहे हैं।

ये दल भी दे रहे टक्कर

राज्य में चल रहे इस चुनाव में माकपा, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी, भारत आदिवासी पार्टी, भारतीय ट्राइबल पार्टी, आम आदमी पार्टी, एआईएमआईएम समेत कई पार्टियां भी मैदान मे अपना दांव आजमा रहे हैं। इस बीच बीजेपी और कांग्रेस दोनों से बागी हुए 40 से अधिक नेता भी में हैं।

कितने विधायक

वर्तमान समय में विधानसभा की बात करें तो कांग्रेस के 107 विधायक, बीजेपी के 70, आरएलपी के 3 , माकपा और भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) के 2-2, राष्ट्रीय लोक दल के एक विधायक हैं। यहां 13 निर्दलीय विधायक हैं जबकि दो-दो सीटें (उदयपुर और करणपुर) खाली हैं।

लाइव वेबकास्टिंग

मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता के अुनसार कुल 26,393 मतदान केन्द्रों पर लाइव वेबकास्टिंग करवाई जा रही है। जिला स्तरीय कंट्रोल रूम से इन मतदान केंद्रों पर निगरानी भी की जा रही है। प्रदेशभर में 65,277 बैलेट यूनिट, 62,372 कंट्रोल यूनिट और 67,580 वीवीपैट मशीनें रिजर्व सहित मतदान कार्य में उपयोग लाई जा रही। यही नहीं चुनाव स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण सम्पन्न कराने के लिए 6,287 माइक्रो आब्जर्वर और 6247 सेक्टर अधिकारी मय रिजर्व नियुक्त किए गए हैं। इसी तरह 2,74,846 मतदान कर्मी मतदान करवा रहे हैं। इसके साथ ही 7960 महिला मतदानकर्मी महिला प्रबन्धित मतदान केन्द्रों पर एवं 796 दिव्यांग मतदान कार्मिक दिव्यांग प्रबन्धित मतदान केन्द्रों पर कमान संभाल रहे हैं।

1,70,000 से अधिक सुरक्षाकर्मी तैनात

इस दैरान एक पुलिस अधिकारी ने यह भी जानकारी दी है कि मतदान प्रक्रिया सुचारू, शांतिपूर्ण ढंग से करवाने के लिए 1,70,000 से अधिक सुरक्षाकर्मी लगाए गए हैं जिनमें राजस्थान पुलिस के 70 हजार से अधिक जवान, 18 हजार राजस्थान होमगार्ड, 2 हजार राजस्थान बॉर्डर होमगार्ड, अन्य राज्यों (उत्तर प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, मध्य प्रदेश) के 15 हजार होमगार्ड व आरएसी की 120 कंपनियां भी शामिल हैं।

Latest news
Related news