Wednesday, June 19, 2024

पाकिस्तान से आया खूंखार पैंथर, जैसलमेर में गटर से किया गया रेस्क्यू, वीडियो वायरल

जयपुर। पाकिस्तान से आए एक खूंखार पैंथर के रेस्क्यू ऑपरेशन का वीडियो और उसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. तस्वीर में पैंथर RESCUE के बाद पिंजरे में बंद बेहद खतरनाक नजर आ रहा है। वहीं रेस्क्यू के VEDIO में वन विभाग की टीम उसे एक नाले (गटर) से निकालते नजर आ रहे हैं. मामला राजस्थान के सरहदी शहर के जैसलमेर से सामने आया है. मिली जानकारी के अनुसार अंतर्राष्ट्रीय भारत-पाक सीमा पर जैसलमेर के वन्यजीव विभाग की टीम ने शुक्रवार को पाकिस्तान से आए एक पैंथर को बड़ी मशक्क्त के बाद रेस्क्यू किया। विभाग के अफसरों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार पकड़ा गया पेंथर 4 साल का नर पैंथर है.

12 किलोमीटर अंदर आ गया था पैंथर

क्षेत्रीय वन्य जीव अफसर लखपत सिंह भाटी ने बताया कि गुरुवार को ग्रामीण ने सूचना दी थी कि नाचना के भारेवाला टावरिवाला के आस-पास पैंथर की सूचना मिली थी. फिर सूचना मिली कि भारत पाक सरहद के पास 12 किलोमीटर अंदर जालुवाला और टावरीवाला स्थान के कमलेश विश्नोई की ढाणी में किसी जंगली जानवर ने बकरी का शिकार किया है.

पंजे के निशान से पैंथर की हुई पुष्टि

जिसके बाद हमारी TEAM मौके पर पहुंची। पंजों के निशान पैंथर के होने पर हमने जोधपुर वन्य जीव विभाग से RESCUE TEAM को बुलाया। शुक्रवार सुबह आई जोधपुर की टीम के साथ मिलकर हमने पंजों के निशान के आधार पर पैंथर की तलाश शुरू की।

पुराने नालों में छिपा था पैंथर

दिन भर की तलाश के बाद INDRA GANDHI नहर के बनाए पुराने नालों के अंदर पैंथर के पंजों के निशान जाते नजर आए. करीब 300 मीटर लंबे नाले पर पत्थर की पट्टिया आदि हटाते-हटाते एक जगह बकरी के अवशेष भी देखने को मिले, जिसके बाद जोधपुर से आए ट्रेंकुलाइजर टीम के बंशीलाल ने पैंथर को ट्रेंकुलाइज किया.

ट्रेंकुलाइ करने के बाद गटर से निकाला गया पैंथर

काफी देर बाद पैंथर को ट्रेंकुलाइज करने के बाद उसे नाले से बाहर निकालकर पिंजरे में बंद किया गया. लखपत सिंह के मुताबिक यह वही पैंथर है जो 4 माह पहले सरहद पार कर टावरीवाला व जालुवाला इलाके में आया था और बकरियों का शिकार किया था और वापस लौट गया था.

Latest news
Related news