Tuesday, July 16, 2024

महिलाओं के खिलाफ अपराध की रोकथाम राजस्थान सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता: अशोक गहलोत

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पुलिस को आपराधिक मानसिकता वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं और कहा है कि महिलाओं और समाज के कमजोर वर्गों के खिलाफ अपराधों की रोकथाम उनकी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है।

मुख्यमंत्री गहलोत ने दिए निर्देश

आपको बता दें कि राजस्थान के मुख्यमंत्री गहलोत ने आपराधिक मानसिकता वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश तो दिया ही साथ ही उन्होंने भीलवाड़ा में नाबालिग लड़की से बलात्कार और हत्या की घटना को दुखद बताते हुए कहा कि पुलिस ने मामले में त्वरित कार्रवाई की और आरोपियों को जल्द से जल्द कड़ी सजा देने का प्रयास किया जा रहा है. श्री गहलोत ने आरोप लगाया कि कुछ लोग इस घटना को राजनीतिक रंग दे रहे हैं और कह रहे हैं कि यह “उचित” नहीं है।

क्या थी घटना ?

राजस्थान के भीलवाड़ा में 2 अगस्त को एक 14 साल की बच्ची मवेशी चराने जाती है जिसके बाद कुछ दरिंदों द्वारा उसका सामूहिक बलात्कार किया जाता है, बलात्कार के बाद उसकी मृत्य कर कोयले के भट्टी में झोंक दिया जाता है.

अभी तक 7 लोग हुए गिरफ्तार

मामले में अब तक एक महिला समेत सात लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. पुलिस के मुताबिक, एक विवाहित नाबालिग और एक किशोर को भी पकड़ा गया है। गहलोत ने पुलिस से आदतन कानून तोड़ने वालों का रिकॉर्ड रखने को कहा ताकि उन्हें सरकारी नौकरियों से वंचित करने समेत कार्रवाई की जा सके। मुख्यमंत्री ने यह बात सोमवार रात अपने सरकारी आवास पर कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक के दौरान कही.

विशेष अभियान चलाने का दिया निर्देश

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पुलिस अधिकारीयों को अभियान चलकर आपराधिक मानसिकता वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए. वहीं निर्धारित समय से अधिक समय तक खुले रहने वाले बार और नाइट क्लबों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के भी निर्देश दिए। सीएम ने क्लब के नियमों का उलंघन करने पर मालिकों और प्रबंधकों के खिलाफ कार्रवाई करने के अलावा ऐसे आउटलेटों का लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा।

Latest news
Related news