Tuesday, July 16, 2024

Rajasthan Election: चुनाव प्रचार में बाबा बालक नाथ फूट-फूटकर रोते नजर आए, जानें पूरा मामला

जयपुर। राजस्‍थान विधानसभा चुनाव के लिए मतदान 25 नवंबर को होगा। ऐसे में सभी उम्मीदवार जीत के लिए हर संभव प्रयास कर रही हैं। वहीं प्रदेश में कभी-कभी उम्मीदवार रोते-बिलखते दिख रहे हैं तो कभी कार्यकर्ताओं का पैर पकड़ते। इस संबंध में बाबा बालकनाथ का नाम भी शामिल हो गया हैं। बता दें कि अलवर से महंत बालकनाथ योगी सांसद हैं और अलवर जिले की तिजारा विधानसभा सीट से इस साल के विधानसभा चुनाव में बीजेपी उम्मीदवार के रूप में वो चुनावी मैदान में उतरे हुए है।

मुस्‍लमानों से वोट की अपील करते आए नजर

आपको बता दें कि चुनाव प्रचार करते तिजारा सीट पर बाबा बालकनाथ कभी चुनाव आयोग को चुनौती देते तो कभी मुस्‍लमानों से वोट करने की अपील करते दिख रहे हैं। पिछले दिन एक वीडियो तेजी से वायरल हुई है जिसमें बाबा बालकनाथ फूट-फूटकर रोते दिख रहे हैं। वो भी अपनों के समक्ष। दरअसल, इस साल बीजेपी उम्मीदवार बाबा बालकनाथ राजस्‍थान विधानसभा चुनाव में तिजारा सीट से चुनाव लड़ रहे है। ऐसे में वो पिछले दिन एक पंचायत में चुनाव प्रचार करने के लिए गए थे। इस दौरान उन्‍हें अपने ही यादव समाज का समर्थन नहीं मिलने पर वो भावुक होते दिखें थे। आपको बता दें कि चुनाव प्रचार के दौरान उनकी आंखों से आंसू निकलने लगे। इस दौरान वे रुमाल से आंसू पोंछते नजर आए। इस कड़ी में महंत बालकनाथ योगी ने जनता से कहा कि ऐसी भी क्या लड़ाई है, जो आप अपने धर्म और भगवा का समर्थन नहीं कर रहे है। आपका समर्थन नहीं मिलने पर अगर मैं जीत भी जाऊं तो वो मेरी हार होगी।

बालकनाथ को उत्तराधिकारी के रूप में किया घोषित

अलवर के ही बहरोड़ से यादव समाज से बाबा बालकनाथ आते हैं। राजस्‍थान के बहरोड़ जिले के कोहराणा गांव में बाबा बालकनाथ का जन्‍म 16 अप्रैल 1984 को हुआ था। उनके पिता का नाम सुभाष यादव और माता का नाम उर्मिला देवी है। यह अलवर से बीजेपी सांसद और बाबा मस्त नाथ विश्वविद्यालय के चांसलर भी हैं। यह नाथ सम्प्रदाय के 8वें मुख्य महन्त हैं। 29 जुलाई 2016 को महंत चांदनाथ ने बालकनाथ को उत्तराधिकारी के रूप में घोषित किया था।

एक डमी उम्मीदवार भी नहीं मिला

आपको बता दें कि बाबा बालक नाथ को गुर्जर समाज का समर्थन तिजारा में नहीं मिल रहा है. ऐसे में बाबा बालक नाथ लगातार समाज के लोगों को मनाने का सिलसिला जारी किए हुए है. इस काम में केंद्र सरकार के कई मंत्री भी जुटे हैं. इस दौरान समाज की एक पंचायत हुई जिसमें समाज का फैसला सुनाने के बाद बालकनाथ भावुक हो गए. बाबा बालकनाथ ने पंचायत में बोलते हुए कहा है कि ऐसी क्या लड़ाई और विवाद है कि आप लोग अपने ही धर्म और भगवा का साथ देने से पीछे हट रहे हैं. इस कड़ी में उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार का बिना नाम लिए कहा कि मेव समाज से नामांकन के दौर में एक डमी प्रत्याशी भी नहीं मिल पाया था।

हमे वोट देकर विपक्ष को उखाड़ फेकना होगा

अलवर से सांसद बाबा बालकनाथ ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी सबका साथ सबका विकास से आगे बढ़ रही है. अगर आज जो भी योजनाएं बीजेपी सरकार देती है तो हर घर को इसका फायदा मिलता है, चाहे वो हिन्दू हो या मुस्लिम वर्ग के लोग, लेकिन कुछ ऐसे लोग भी है जो धर्म को तोड़ने और देश को तोड़ने की बात करते है, उनको बीजेपी अब तोड़ेगी. इसके साथ ही उन्होंने आगे कहा कि पहले लोग जम्मू कश्मीर में पत्थरबाजी करते थे. वहां बंद हुई तो अब राजस्थान में शुरू कर दी गई, लेकिन इस बार हमे 25 नवंबर को भारी मतों से वोट देकर विपक्ष को सत्ता से उखाड़ फेकना है।

Latest news
Related news