Saturday, May 18, 2024

Ganga Saptami 2024 : आज गंगा सप्तमी, इन चीजों का करें परहेज

जयपुर: आज देश भर में गंगा सप्तमी का पर्व मनाया जा रहा है। (Ganga Saptami 2024) भारत में गंगा नदी को सबसे पवित्र नदियों में से एक माना गया है। आज इस शुभ तिथि पर, देवी गंगा की पूजा-अर्चना की जाती है क्योंकि ऐसा माना गया है कि सप्तमी तिथि पर माता गंगा अपने भक्तों को आशीर्वाद देने के लिए पृथ्वी पर आती हैं। इस पर्व को लोग हर वर्ष सप्तमी तिथि को मनाते है। इस तिथि को वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की सप्तमी को मनाया जाता है। इस दिन, भक्त पवित्र स्नान करने के बाद माता गंगा का आशीर्वाद लेते है। इस अवसर पर भक्त गंगा नदी के तट पर जुटते हैं।

इस मुहूर्त में करें पूजा-पाठ

हिंदू पंचांग के मुताबिक, इस साल गंगा सप्तमी 14 मई को मनाई जा रही है। गंगा सप्तमी मध्याह्न मुहूर्त 14 मई को सुबह 10:56 बजे से दोपहर 1:39 बजे तक रहेगा। इस दिन, भक्त सुबह जल्दी उठकर माता गंगा की पूजा करते हैं। गंगा नदी में डुबकी लगाते है. इसके बाद वो एक दीपक जलाते हैं और उसे नदी में प्रवाहित करते हैं। साथ ही मां गंगा को माला और मिठाई चढ़ाया जाता हैं। शाम के समय मां गंगा का आशीर्वाद लेने के लिए एक विशेष आरती होती है। भक्त शाम को देवी गंगा की आराधना करते है। इस दिन गरीबों और जरूरतमंदों को भोजन, पानी और कपड़े दान करने से आपके सभी दुःख दूर होते है। साथ ही गंगा नदी के तट पर बैठकर महा मृत्युंजय मंत्र का जाप भी करना शुभ माना जाता है।

गंगा सप्तमी पर इन कामों को करने से बचें –

इस तिथि पर किसी से लड़ाई-झगड़ा नहीं करें।

आज के दिन बुजुर्गों और महिलाओं का अपमान नहीं करें।

उपवास के दौरान दिन में सोने से बचें।

तामसिक भोजन का परहेज करें।

Latest news
Related news