Saturday, July 13, 2024

Kota News: वन्य जीवों की तस्करी करने वाला गिरफ्तार, युवक के पास से बरामद हुए स्टार कछुए और गागरोनी तोता

जयपुर। राजस्थान के कोटा (Kota News) टेरिटोरियल वन विभाग की टीम और वन्य जीव विभाग की टीम ने बड़ी कार्रवाई की है। जहां अवैध रूप से बेचे जा रहे स्टार कछुए और गागरोनी तोता के साथ एक युवक को गिरफ्तार किया गया है। बता दें कि यह कार्रवाई वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल बोर्ड दिल्ली से मिली जानकारी के बाद की गई है।

जानकारी के अनुसार, इस मामले में एक युवक को अवैध रूप से स्टार कछुए और गागरोनी तोता को अपने पास रखने और बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। बता दें कि कोटा संभाग के गागरोन में एक विशेष प्रजाती के गागरोनी तोता पाये जाते हैं, जो आकार में बड़े होते हैं और हूबहू किसी की भी आवाज निकाल लेते हैं।

सोशल मीडिया के जरिए ग्राहकों करता था सौदा

वहीं वन विभाग कोटा (Kota News) के उपवन संरक्षक अपूर्व कृष्ण श्रीवास्तव ने जानकारी देते हुए बताया कि पकड़े गए युवक के पास से चार गागरोनी तोता और 12 स्टार कछुए बरामद हुए हैं। यहां चोपड़ा फार्म स्टेशन डडवाडा 1011 पर दबिश देकर शुभम गौतम पुत्र गोपाल गौतम को गिरफ्तार किया गया। बताया गया है कि शुभम सोशल मीडिया के जरिए ग्राहकों को इन वन्यजीवों को अवैध रुप से बेचाता था वहीं सौदा होने के बाद जब पैसा मिल जाता, तब वह इन्हें बस के जरिए ट्रांसपोर्ट कर खरीदने वाले व्यक्ति तक पहुंचा देता था।

उपवन संरक्षक अपूर्व कृष्ण श्रीवास्तव ने आगे बताया कि ऐसे में अब बस ऑपरेटर के बारे में भी जानकारी जुटाई जा रही है। आरोपी शुभम ने किन-किन लोगों को वन्य जीव बेचे हैं, इसकी भी जानकारी जुटाई जा रही है।

दरअसल, वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल बोर्ड दिल्ली में एक एक्टिविस्ट ने शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसके बाद यह कार्रवाई की गई है। डीसीएफ श्रीवास्तव ने बताया कि वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 के संशोधित अधिनियम 2023 की प्रथम और द्वितीय अनुसूची के तहत ये सभी संरक्षित वन्यजीव हैं। डीसीएफ श्रीवास्तव ने बताया कि इन्हें बरामद कर कस्टडी में लिया गया है। उपवन संरक्षक वन्यजीव अनुराग भटनागर और ट्रेनिंग आईएफएस विवेक पांडे के साथ वन्यजीव और वन विभाग टेरिटोरियल की टीम ने यह कार्रवाई की।

सब इंस्पेक्टर का बेटा है आरोपी

मिली जानकारी के मुताबिक अवैध रूप से तोता और कछुए को बेच रहे शुभम गौतम के पिता गोपाल गौतम पुलिस में सब इंस्पेक्टर हैं। वह वर्तमान में बारां कोतवाली में तैनात हैं। इसके अलावा शुभम के मोबाइल में कछुओं और अन्य वन्यजीवों को बेचने के सबूत मिले हैं। जिसके बाद शुभम के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

बता दें कि वन्य जीव संरक्षण अधिनियम में संरक्षित वन्य जीव को अपने पास रखने पर प्रतिबंध है। इस मामले में आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। ऐसे में मामलों में 3 से 7 साल तक सजा और 10 हजार रुपये के जुर्माने से दंडित करने का प्रावधान शामिल है।

Latest news
Related news